পাতা:প্রবাসী (ঊনত্রিংশ ভাগ, দ্বিতীয় খণ্ড).djvu/৬৪৪

উইকিসংকলন থেকে
পরিভ্রমণে ঝাঁপ দিন অনুসন্ধানে ঝাঁপ দিন
এই পাতাটির মুদ্রণ সংশোধন করা প্রয়োজন।


o گینامه بیان مییابع o डश्रांज्राङौवन"शूडि-नावाब्रन बांक्रनगोप्प्रब्र यsांबक *बौणमनि छबदखौं य#ौङ । भूना २॥ • Bारू । छषण अtईन »५ cની-૨av નૃil l चांभब्रा अ३ गूडकाँ* *क्लिब्रां ॐ-कूङ इडेब्रiहि । ` कॅश ७ख्छन उछ अॅचब्रविचांमैौ चांबजचैौ वjखिब्र छौसबभ्रुछि ॥ थiनिब्राप्रिंटर्णब्र भtथा पर्वयछांब्रक शनिग्नां नौलभगेिबांबू यनिक । ठांश्izकब्र केंडिहांम, जांकांब्र-वावहांब्र, ब्रौठिनौठि थकुडिब्र बुखांख फ़ेिखांकर्षक ॥ थांछकांन হিন্দুমুসলমান অনেকেই আদিম জ’তিদিগকে নিজ নিজ ধর্শ্বে জানিবার ऎकहीं कब्रिटङ८इन । उiहांtधब्र भएष] श्वई &यकांब्र बब्रिटङ हर्केरल Wछांहॉक्निzक ¢कभत्र कब्रिग्र नकल भिक फ़ेिब्र1 ऐंद्रड कब्रिtड हम्न, १व१ প্রচারককে কিরূপ “দশকশ্বাম্বিত” ইষ্টয়া বাগুৰিক জুহা সেলাই हऐ८छ कठीणांठे" अर्थाशु मरुझे कब्रिटङ इग्न, बीजभनिंदांतृ डाहांब्र अन्तश्णबौव्र घृहेाद्य cमथाङ्ग्राप्इन । ३ाइोथ्रा थाधि छाडित्रिएकच श्व वtई बॉनिटड कांब ॐांहांटमग्न ७ वछ अरु थ**ि*ांश cजांकएमब्र ७झे বছি পড়া উচিত। ঐরামানন্দ চট্টোপাধ্যায় মহেশ্বরপাশ। পরিচয়-ীিযুক্ত খগেশ্রনাথ বই সঙ্কলিত। মূল্য ও পৃষ্ঠা ৩৯৮। মহেশ্বরপাশ খুলনা জেলার BBBD DDB HHH S DDD DDD D DDBBD DBB BBS BBB করিয়াছেন। দৌলতপুর কলেজের অধ্যাপক সতীশচন্দ্র মিত্র একটি ক্ষুজ অথচ সারগর্ত ভূমিকা লিখিয়া দিয়াছেন। পল্লীগ্রামের ঐতিহাসিক ও জনশ্রুতিমূলক বিবরণের সহিত ৰাছিয়ের জগতের गचक जछि बछ । डांश हल्लेट्ज७ cजश्व८कब्र ऍग्लभ अ१९णांड ॥ *र! BBBBBBB BB GD DDuD DBBDD DBBB BBD DDDD जबूछ गल्लौजांtभब्र खौवन-यवांटहङ्ग भtशरें *ांeग्न गांब्र ॥ 4श्वरै देशॉe সত্য যে পল্পীর জীবনের ছায়ালোকময় বৈচিত্র্য এত ক্ষুদ্র ও বিচ্ছিন্ন cग डोहाँ ॐठिहॉनिकब्र tकांनe &थरग्नांछtन जांtन नl ॥ किड़ ब्रांछनैौछिक केंद्धिहांटनब्र अटक ईहां गङा ह३टलe हेहांब्रड छंशंकांब्रिछ| चचौकांब्र कब्र! श्रीब्र न । गांभाजिक हेडिहान-cजभटकब्र श्रृंरक *iझैौबौषtवब्र श्लेष्ठि:ांग, यवान ७ इफ़ां★छ जकिकि९कब्र नtह । कूणजौ *इeणि थ३ कांबtन बूलाबांन्। छाब्रट्ठद्र जनन्शूल ब्रांडबैौठिक हैडिशॉटनब्र छैनकद्वन नईजह कब्रिष्ठ इ३टजe aथtनटन, छननयन, cछजांद्र ७ *ब्रौजांटन जत्रूनकांन न कबिंब्री छनॉब्र नोहे । शङब्रांश थाप्लाछ) ॐहचांनिदङ अरूषनिंबांब शल्लौजांtभब्र श्रृंब्रिछक्क थांकिप्नe 8नकब्र+ग१जड़ श्निांप्त 4ब्रभ अब्राप्नब्र ऋषडे बूजा यांtइ । cनङ्गेजबारे * cवनैब अइ शठ इब्र, छठश् छांण घट्न इग्न । भद्रहवब्रशांतांब्र चळवक् ७१ ७ €यछिडtबांब वाडि खग्रजह१ कब्रिब्रांरहब । षषचनैौब cकणाद्रवाथ बबूबजांब्र ( कूछविहांब्र ब्रांरछाब्र हेaिनिम्नांब ), ब्रांब्र नांप्रद भनिहूद१ गांण (विषाङ जिरूब ) ७ छैiशांब नरवनिंगै। क्षेवी कोबिनौश्चो भोज (प्रििन्ज अडिोक्डौं) अङ्कछि। बैरांप्नब अवर जछांछ कृठी शउिनrनंब जीवनौ ७ छिटज अप्इब गणर् यंत्रीनिक्रटग्_Tं, BBB DDDL S BB GGBBDD DBB B BBBB DiHg BB BDDD डूण इtणा इलेग्रांप्ङ ।। ७ड़े शभूग्निड ७ ६-जविडs नूखएक cन●णि সহজেই বর্জিত হইতে পারিষ্ঠ । শ্ৰীখগেন্দ্রনাথ মিত্র ব্রহ্মচৰ্য্য। বিধবাবিবাহ-মহীয়া গঙ্গী লিখিত, TDDDBB BB BBB BBBBS BBBBDSDttDD BBDS CCS नiश्ङिा भूञ्चिब्र, sels cणiविश्ञ cनन cडन, कणिकtडl । भूल, थॉछे জান ও দৃশ পয়সা । BBD DDBB BB DDD C DDtS gMu BBS DBBBBB C BBBDD DDD DDS DDDDS gggBBB C विवांश्ठि मकरणब्रहे अtझनं बभ5६, 4द१ ठाझांद्ध छछ नकल कॅटािरग्नब्र मश्शन्न जॉरुश्रक । ‘यक् िनtब्रांडीबम बभोb६) गteब कfarष्ठ *nद्विष्ठांभ ठरव जांभांब्र ऊँ९नांइ ७ नक्लि झांछांद्र ७१ cरुनै हल्लेष्ठ, ●बर थॉभि cमहे व्यृद्धि टाr.1% कब्रिग्नt निtछब्र ७ cषप्तब्र कtज कfब्रद्धांध ॥००० जांघ्निां शठ निष्णांश्रृं ७ निर्तिकांग्न हब्र, नग्नेौब्र७ ७ङ बिtब्रांनं इब्र । नि८ब्रi* श्iंीtब्रह्म एष४ विष्ण१tन १aौश्च नम्रं, १द्धिः=ीर्ष्टौ चtश्च1 चेौ१ *ब्रौzब्रड़े दांग कtब्र 1००.७भरुश थैitी डक्रकtग्नौब्र *न्नैौब्र जछि cष्ठछणूर्ण ७ बज*iलौ बाँ इहेंग्रl *ीicá नl ॥००-शिनि छमनाँ गईगछ कtāब बां* डिनि कांप्रबभन कब्रिह्छ श्रृंiद्विरबन बl ॥०००बांधि डेह दिरtन कब्रि बाँ cग ब्ली-भूब्रtषद्ध छिडब्रकांब्र अझे अांक*१ चांछाषिक : कॅह गठ) হইলে বুকিৰ প্ৰলয়ের বেশ দেরি নাই। ভা#-ৰোন, মাঙ্গ-পুত্র ও शिठी-शूढौद्ध छिडब्र cष बाकर्षन जारइ ठांहारे चांखार्षिक “ भिजानब्र ऍटं८णश्च दृश्थ नtरु, देहांब छै८णक्छ मछॉन è९*ांकन कब्रौ ॥००० DBBSBBBBD DD B BBBB BBBB DDDDDD L DDDDD L अङ्कज्र। भोक्तैौ म९शामग्न छोब्र1 छद्म-निङ्गकुण कब्रिएड छन, छैtहाब्र अ८छ कृजिथ छेनाग्न जऊाख अश्डि। कछकखन कूजिम डणाग्न नबर्षन कब्रिहः । cष गज निग्नांविरजन ठांश ७वर अहॉम्नांब्र चट्रीखञ्च ४sडे श्रृंखtक जां८ह ॥ रुरु विश्वछक ख षांत्रिक बjखि महांब्रांब्र cशौननचकौब्र कtáांब्र भड नंवर्षन কfরবেন না, কিন্তু সংযম-সাধনার ৰে উপায় সকল এই পুণ্ডকে वf{ड हड़ेब्रांद्दइ ठांइब्रि छैणप्दांनिष्ठ नकटजड़े चैौकtब्र कद्विध्वंन ।• * ‘क्षिष क्विांइ ५७टक महाच्च श्रीको बनिदerइन-जवइगखिब्र नांशांtश] विषबांनिनtक c¢कॉर्डेष्ठ cनtण वषराष* ब्रक ह*pड लांद्रद्ध बl ॥•••तक zक्षवा हिन्नूनभांटजब्र जडकांब ---वांजविषयांब कांश्रमिक ४वषय] cशङ्क हिन्नूनमांज *टिङ ह३८टरह ॥००-*ांद्रौब्रिक नरखानब्र चछत्व बन गरि लांrश्रब्र छिडांब्र इतिब्र थारक, टrषgवप्रह कूषा लांखि कब्रांहे पर्व-4 क्षिtग्न चाबांब ८कारवां नरनह बाह' । विदE विवाह कोप्न भाग कोण बन्न, विणझोप्कब्र विप्र षड्योङ्ग गोण श्ब, ३शप्डe ठ७:इ गाग इश्tव । ध्वषष बाज ष* मब --tष *क्षण cचव्हांद्र णोनिङ रुद्र टtर अनश्नांड cषांना : वजयcब्राप्नं गांजिष्ठ tवषषा विन्चत्रौञ्च ॥* अtइब्र गब्रिनिष्टे जकूवांषक cणांकन६णांब cष ठांजिक विब्रांप्इन छांदांटछ cवषा वांश्ध्ष cव वाडांनी रिव्यूब यांब्र