পাতা:প্রবাসী (ঊনত্রিংশ ভাগ, দ্বিতীয় খণ্ড).djvu/৩৭৪

উইকিসংকলন থেকে
পরিভ্রমণে ঝাঁপ দিন অনুসন্ধানে ঝাঁপ দিন
এই পাতাটির মুদ্রণ সংশোধন করা প্রয়োজন।


৩য় সংখ্যা]


. --م..میمہ .می..ے

चांयांब्र बन cषटक डूडकां८ब्रब्र ८णहे कषोंधै। -- बांदे८ड८छ् नl ? ८ण ७क5 जडि ८कांधणे जिब्रांज निर्धार्ण করিয়া তাকে বলেছিল,— 'जानि न चांकन श्रेप्ड चवृष्टेत्र छिन गटक cडां८क चांटनं छांच८ब कि चांभांटक चांटनं ।।' क्णख्: उहाँरे पणि। चार श्रणबाटनब्र वृङ्काद्र शब्र इणन गांब्रह्छब्र नॉरु हरेरणन । चांकबब्र ॐांशांब्र निकट्टै अकबांब्र निजांब विषा वृष्ट्र-गरबांन ब्रtाहेब *नछ यार्थना করিলেন। শাহ উত্তর দিলেন যে, ভারতবর্ষের পশ্চিমबन्चब्रeिजिद्दछ छैiहांब्र सशंछब्र चांदइ, छांशंदनब्र निकल्ले श्रङ बांननाप्रब वृङ्का-नश्वाश गठैिक बॉनिबॉब बछ जानक कब्रिटङ हदैरय । ग८ब्र वथन चांकब८ब्रब्र कषां विषा बजिब्रां ययांनिष्ठ रुदेण, उषन शांब्रछ-ब्रांजणब्रवारब्र ॐांझांब्र थरिङ चयख ७ चदङ्ग ८मषां निज ॥ जनंदिखांन NDO? चवटलएष दिब्रख् हरेदा चांकवद्र नॉब्रtछब्र दचि4-भूर्ल প্রদেশ খুরাসানে জালিয়া বাস করিতে লাগিলেন। ইহা भूषण-नांबांटजाब चांक्षानिशन थtनरलद्र श्राप्त गरगs, ५षांन श्रेष्ठ चडि बउ भूषण cनन चांजवन कब्र बांब ।। ७बछ कांबूद्दणब्र इवांबांब्र कूषांब्र भांश् चांजय चडाख छांबनांब ब्रहिzलन । दाँश इफेंक, चक्टञ्चएव उप्लङ्लङ्ग निर्एनिज्र चोकबच्न s१०० गारणइ cनाव, चर्षीं९ निष्ठाब वृङ्काद्र ख्नि ब५गब्र शूरसंहे, थाभंडाांत्र रूब्रिटनन । सनिद्रा चांसब्रश्चौब ৰলিলেন— - “श्चूिहांटनब्र भश चलांडिब्र कांब्रन थॉधिन ” ৰিজোছের পর মাড়োয়ারে পরিত্যক্ত আকবরের পুত্রকতাকে ছৰ্গাদাস কেমন ঘত্বে প্রতিপালন করেন এবং चांeद्रश्चौ८षद्ध निकÉ डांझांटमब्र जांनिब्रां ८मन, cग uाक षट्नांबष ख्रांशिनौ । অপবিজ্ঞান ঐরাজশেখর বন্ধ विजनsफ्रीब्र अनाबब.रूदन थाशैन चकनष्कांब कथनः यूब श्रेष्ठररु । किरू शश बाहेरउदइ फांशंद्र शंप्न न्ख्न चावर्बन किङ्ग किङ्ग बशि उन्ह। थार्चु बूनि गरेब्र cषधन चनषर्च ऋडे शश, cख्यनि विजांप्नड़ दूनि जहेब चनंदिखांन भग्निब्रा ७d । जकण cणtभरें विखांटनब्र नाप्य चानक मूडन बांखि गाथांब्रएनब्र भाषा थऽनिख् হইয়াছে। বৈজ্ঞানিৰ ছদ্মবেশে বেসৰল ৰাজধারণ এদেশে লোকঞ্জির হইয়াছে, এই প্রবন্ধে তাঁহারই কয়েকটি षैषांश्ब्र१ मिटरूहि : - अथ८५३ फेरन्नषट्षांनी-विश९ । जैौब बिज८°ब्र क्रण wहे भचीब अप्राप्न जांचकाण किषि५ नष्षष चानिद्रांप्इ । *िक्रिड विश९ गरेफांङ्ग विकृ९ नवांजप्ण बिछ्राद-७षन वफ़ ७कül cनांना दांच्च न । किरू uधन७ विश८डब्र यजूठ बरिया । किडूनिन भूर्ल ८कांप्ना भांनिक-बिकांब ७क कबिब्रांज यहां★ष्ट्र निषिद्रांझिालन‘गर्कनारे षटन ब्रांषिरवन छूणगैौनाटइब्र गरूँज निब्रखब्र tवशउिक्थवांश् गर्भंगबिउ श्रेष्ठदइ ' ७रे जनूर्ति डषाॉर्छ डिनि ८कांषांइ नांदेरणन, छब्रटक कि छ्वंरङ किरदां निज घटनब्र चखखtण, खांश बरणन नॉरे ॥ ६षष्ट्राडिक गाणना ध्वङ्गाडिक चाशः बाजां८ब्र प्रथष्ठणिङ । चहेषांडूत्र मांकृजिब्र ७१ vषन चांब्र नाज़ द «थबांटनब्र ऐंठनग्न निर्डब्र করে না। ব্যাটারিতে ই রকম ধাতু থাকে বলিয়া बिश९७९गद्र श्, चख्थव चोषांडूब 8नएषांत्रिजा चांtब्रा cदने न इ३८द cकन ? विणार्डौ धवटच्चब्र कांनcजe ६बङ्गाडिक ८कांभब्रबळगड़ बिज्रां★न बांग्र अनष्णां★ख बांदिब्र