পাতা:প্রবাসী (ঊনত্রিংশ ভাগ, দ্বিতীয় খণ্ড).djvu/৫৯৪

উইকিসংকলন থেকে
পরিভ্রমণে ঝাঁপ দিন অনুসন্ধানে ঝাঁপ দিন
এই পাতাটির মুদ্রণ সংশোধন করা প্রয়োজন।


৪র্থ সংখ্যা ] কষ্টিপাথর -স্বরাজ-রাষ্ট্রে কি জাতীয় সাধনায় 6.8& थां७ब्रांब्र खांडांनिध्नब नश्वरद बटम जांसं नरकंब cर्शौणिक वर्धनकडि८ङ कडक छब्रेिकर्डन नीषेिऊ हऎबांख्णि ॥ अरैक्ल८° गडबड£ थांल्लेौन अविदांनिभंtनंद्र विt4वड६ षांचेिनंt८छIङ्ग अविक्लौग्नमेि८भब्र बtषा यsलिङ विलिङ्घ aयकt८ब्रव्र छैनंदनवडांब्र छैनोंनव-श्रृंकछि उबॉईनं८णंब्र खांरब गश्कूङ ७ शब्रिवर्डिंठ हरॅब्रां कांणबरब tवंत-पtईज शe कब्रिब्रां८इ ॥ ●थांौम ध्वनिक cनवठा ब्रज किब्रt* ब८ध *बदउँौं हिन्यू-पर्वअन्छछ अहांटम८वब्र ब्रानं शांब्र* कब्रिटजन, डांहांब्र 3िक वांब्र! विग्नि कब्रt चक्छरे कtौन । किड़ cमश यांग्र tरु, झुंझैग्न विडीव्र नंख्ठांकौ८ठ 4ह गरपल्लेष्ठ इ*ब्र निम्नांझिण । ( इंः नूः छ्डौघ्र + sाकौब्र भूटर्स ) মেগাস্থিনিস ধাহাকে এদেশে Dionysog দেব বলিয়া বর্ণমা করিয়া त्रिग्रांटाइन, ॐांहां८क जांबांटमब्र छेनांश tमसङ1 निव वजिग्नt३ षब्रां श्रेब्रांtइ । ध्रुझेब्र नंडांचौब्र थांब्रटछ tनंन-प* ७ cर्वाख्-षcéब्र मशभविष्ठ णक4-पूख क्लिझ-जकल ऐ८७-जैौषिञ्च (*क) ब्रांबणt*ब्र মুদ্রাদিতে দেখিতে পাওয়া যায়। প্রাচীন নাটকাদি সাহিত্যে শিৰ ●थवांन भक्रणशांठ cनवडl रुणिग्नां रुििङ इलेब्रां८छन । विव-छब्रिज कूड़ें বিরুদ্ধ লক্ষণযুক্ত—একটি ভয় উৎপাদক, অপর কল্যাণ প্রদ। তিনি भत्रणभग्न, डिनिर्दे छद्रक ब । निद*ङ्गौ क्षिांनी अॅझन् छ्रे विक्रक अकथांकांछ|-डिनि छेत्रां ७ अविक कणाां★मांजौ स्रजंग्रांड : ठिविरें कांजी ७ कब्रांजौ कूक्ब्रन्नैिो छग्नकर्ब्री । अरे छू* विक्रक उizवब्र cमदकछबांब्र-बच्णहे इदैटल७-बांर्षी ७ जनांपैनिंt*ांब्र भैशब्लौन्न छttनब्र विडिग्न छेviलकिब्र म६भिॐ ब्रहिब्रां८छ् बजिब्रां भरभ रुग्न ॥ पञtरीIख्छॉग कलTांशंकब्र ८घशषग्न, थांब्र जनtर्षाच्चांद बिबां★कांब्रक ७ छग्नकब्र ॥ 4ड़ेब्रtश्रृं tब तिब्रांछै शf-नभवग्न जांब्रड इ३ण, उठtझाँहे इंfठझांटन हिबूबई वणिग्न कविड श्ब्रांप्इ-बार्षीनांषनांब्र अडि छैछ rवशांडबठ श्रेtछ जांबछ कब्रिध्न जांनिभ मांनावब्र छझषांम ७ इङषांम भर्वाख गयूनम्न वर्षभ८ठब्र विछिक्क छोक् डेहोरङ गब्रिपिँछे बृदिब्राप्छ ।--- हिन्दूषप्ईङ्ग अस्त्रनैछ cष-मकण विछिक्क पर्वबज्र जोरङ, ठोहोरठ बडरें £वदभा थांडूकू ब1८कब, ठांशॉब्र छिठरब अकाँध्न चनांदांब्र१ बेका cर्षिःखं ॰ri७झ! बांघ्र । 'ंश्च, 'चिङ्कां विद्धि बङ्ग१ध]यं शश्वनि चांप्रू वर्क, किड cकश् अरू tशबडांब खेगानक बनिम्न, जछ cनवडांब्र ॐांननांब्र कs कtब्र न ॥“अरूरे हिमू ठौर्ष-धांजांद्र बहिर्जठ इरॅब्र निंद, कूप, cषरौ, ब्रांभ, नtर्णनं व अशांसैौtब्रव्र अनिवब्र पर्नन कब्रिग्नl जांप्न । अकहे हिन्यू चांगन बाक्लौष्ठ नष९नब्रकांण बरषा aनकण बद२ जांब७ जानक cषद-cगरीौब्र शूछांब्र जबूर्छांन कब्रिग्नां शंizक ; कवि छढूंहबि cवभन रुजिब्रां८इन, अरै नकण खै*ांगक मयकांtग्नब्र cशनिक वृड८ङ अकई cनद-निव वा कुक । छांबाट थाऽजिठ श्पूिषार्श्वब पिछिद्र नाथांथनीषl ७ cौख अष१ :छन यकृछि श्री-बाख्द्र चल्लभेंठ कावहाद्रिक नौछि (ethical princlples) मचूह नजि बक-जर्सङ्कटङ गम्र, छrांनं ७ कर्ध्व-वांव l•••औरू, *iब्रशैब्र, नीषिञ्च ७ इन् छाउँौब cणांरकब्रl छांब्रtङब्र विडिग्न हांप्न चांषेिन्छ) विद्यांङ्ग कहिब्र वनिद्रांहिण। किड़ कtजबमम देहांtशब्ल इग्न विष्ठांछिठ इश्ध्ठ हश्ब्रांझिण, चषश दिमूवtर्वब छांप्त जत्रूथानिऊ श्रेष्ठ! हिन्दूव्र पर्व, हिन्दूब माहिङाक्र्चनाब्रि जोन ७ यूिब्र यटिéांनांश्ब्रि जरुर्नङ ह३ब्र षांकिण्ठ हरेक्रांझ्णि ॥ इंः शूः विठौइ *ठांचीब्र भषाछांटन औकब्रांब बिटन७tब बडैब्रtण cर्षाकृषtई औक्रिछ इहेब्रांहिष्णब-*निजिब-यञ्च' बांधक cर्शकऽट्रtइ डिनिरै ब्रांछाँ “बिणिन' वांप्व शांङ हईब्रांtइन ; कूचन् कशनज्ञ ब्रांछ1 चिठौद्ध cरूछ कांहेनौणू लिटवब्र छैनॆांनक हिरणन, जांब्र छैiहांइ इषिथjांङ बश्चंषद्ध कनेिक ७ हरिक cगैकषtáब गब्रन उछ हिरणन। गोबर्षौद्र-वश्नांडव गलत बांब** و وجسدي جه DDBDSDDL DDDDD DDDD DDD DDD BBD DDD कबिब्रॉश्णिन : छैiशबा नन्नृ{ब्रrगरे ऐिन्नू हऐब त्रिबाहिरणन : कोंको बी कta छब्रन् खैiहॉक्रिनब्र ब्रtअषांबैौ क्षिण : ऍitइोषेिप्नब्र अथग्न इहेरठरे बहे कांकी हिन्नूषcáब वककि यषांन cरूव ७ ठौर्षइांन दणिग्नl *ब्रिनिषिद्ध इ३ब्रtदछ । cनौब्रांड़े या कांविद्वांबांटक्लब श्रृंरू-ब्रांछनन (कजण) cबौक श! बांक्रनाथर्व अश्नभूकक शिन्यूनमांप्छद्र चलष्ट्र उ হইয়াছিলেন (ces ছিন্দু সভ্যতা পরিণামে মুসলমান সভ্যতা ও মুসলমান শাসন शषशक्बि छैनब चांगनांब यछाद पृष्क्रrण गरइांगन कबिब्राहिण । একবার ভারতে প্রতিষ্ঠিত হইলে পর মুসলমানগণ ক্রমে, হিন্দুগৰাপন্ন छ्श्श्र श्रृंक्लेिज l००० পক্ষাস্তরে মুসলমান-ধর্থের নিরপোৰ একেশ্বরবাদ হিন্দুধর্থের উপর नtजांरब्र अछांव तिचाब्र कब्रिtठ जांत्रिण । डाहांबरे क्Qन छछूर्मन *ङांकौ हई८छ मखम* *ङाको अर्वाश्रु रणेौर्षकांण षब्रिब्रां मरण गप्न नषांख नश्झांबक ७ थई-गश्झांबकभ१ श्नूिनमicअ णादिइड श्नifइंदणन ।। ३५iब; श्रृंगश् ॰ब्रभिषि:ब्रह्म ॰श्च चछांब द्विद्धि লাগিলেন, জাতিভেদের উচ্ছেদে বদ্ধপরিকর হুইয়াছিলেন এবং यूनणभांब८क७ चषcई शैक्रिङ कब्रिटटन । ब्रांभांनम, करौौब्र, बांगक ও চৈতন্তের নাম ইহাদের মধ্যে প্রধান --- হিন্দু ও মুসলমান সংমিশ্রণের এইরূপ স্বন্দর ক্রিয়া-প্রতিক্রিয়ার करल ऊँडtब्रब्र ऋषा ४शब्जौ ७ नभएक्लब ऋ* बांvनिके हरे८७ जांगिंज : বিশেষ করিয়া দেখা গেল যে উচ্চ ও শিক্ষিত সমাজের মধ্যে বেদান্তের महर्षित्रज्ञवान पैंछम्न मद्यग्नो८ग्रङ्ग झम्लग्न चार्जी कब्रिम्न अिधक प्लेष्ठक बिजनcचय्जब ऋछन कब्रिण (भूगणनांप्नड ऋकी भठवांन ७ हिन्नूब cतकांड वांरम विप्नव भांर्थक किङ्ग ना३ ) : जांब निध्रप्अगैब्र भूननभारबब्र भtषा अषिकांश्लरे श्नूिनभांछ इड्रेष्ठ पर्वांछब्र अइन कब्रिब्रांख्णि, BBDL DDDDDD BB DDT C DDBB BBDDD BH कब्रिप्ठ न गांब्रिग्रl, श्न्भूिविप्नब गूजाणांकन छे९गवांविष्ठ e९गांश् ७ यांनाच cषांजषांन कबिछ। श्न्यूिबां७ अरबम यङ्कङि भूगणनांनौ উৎসৰে যোগদাস করিভ ॥. कईबांग ब1 जघृडेदांप्ष विचांनी इ७ब्रांप्ङ श्नूि ७ भूगणञांप्वब बtषा खांवत्रङ शङहे गांर्षका षांकूक नl cकन, बाकशांबिक औषध्न फँछtब्रहे नtछांव, चांखि ७ गांभांबिक जांtबाब्र नकश्रांडी क्विज ॥ यांग्न नकल cजां८कहै एडश्वन अंitब बांन कब्रिड, ठांझांक्षिप्नब्र भाषj &वक्रूरल चtग्नश =ांनब विब्रांछ कब्रिए, cकडऔग्न ब्रांछष्यूंख्रि ह*८ङ पठांझांब्र! अध्नक क्षिप्द्र च द्वजश्छांtष बांन कब्रिड : देशां८४७ बिछिब्र मन्यकांtब्रब्र cजां८कब्र মধ্যে পরস্পর মৈত্রীবন্ধন দৃঢ়ৰূপে সংস্থাপিত ছিল। CDDDD DD B GBB DBB DD BBDD GGGBC রাজনীতির উপরে আপনিই আসিয়া পড়িত—হিন্দু ইউৰু বা মুসলমান इफेकू ब्रांछनक्विटक अरे नांवानौठि भांछ कद्विग्न छजिtड ह३छ ।•••uटर् aनरज cबांत्रण-नजांहे बांदब्र ठ९णूज हभांवृएनब्र यद्धि cन ४गटक्नवांक ८णन डांइ थनिंथांबद्धवांना- - t > ) छूधि ८कांन● विtनव वर्गी-विचान व मरकांब बांब्री थलांविष्ठ हहैtव न ; शब्रख नकज मच्यमांtब्रड श*सिंचाiन ७ जकूर्छांनांकिब्र ●छि नमछाप्त नवांन यक्र्मन शूकर्षक निद्रtणकछांटल छांद्रशबांद्रन षांकिटक् ॥ ( २ ) विtनष कब्रिग्रा cण-वष हट्टेtछ बिंब्रख षांकिएष ; ठांश इङ्गेtण जनथ हिन्यू ब्रांछिद्र जखटबब्र छेणब्र अविकांद्र जांछ कब्रिtछ शांब्रिटब, ●त्र१ * tषनौब्र प्लांकक्ऋिक cडtथांब्र ●थखि कृथ्छछाप्राज बांवक कब्रिtङ *iश्tिब । ( e) ८कांब७ ग्रन्थकांtब्रव्र tनवहांन बड़े कब्रिप्त